[इनसाइट्स सिक्योर STHIR – 2021] दैनिक सिविल सेवा मुख्य परीक्षा उत्तर लेखन अभ्यास: 16 जुलाई 2021 – PuuchoIAS


 

How to Follow Secure Initiative?

How to Self-evaluate your answer? 

Puucho NEW SECURE – 2020: YEARLONG TIMETABLE

 


सामान्य अध्ययनI


 

विषय: सा.अ.1– महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन, जनसंख्या एवं संबद्ध मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएँ और उनके रक्षोपाय।

सा.अ.2– केन्द्र एवं राज्यों द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गों के लिये कल्याणकारी योजनाएँ और इन योजनाओं का कार्य-निष्पादन; इन अति संवेदनशील वर्गों की रक्षा एवं बेहतरी के लिये गठित तंत्र, विधि, संस्थान एवं निकाय।

1. कल्याण को सशर्त बनाये जाने से सम्बंधित मुद्दों पर चर्चा कीजिए। उत्तर प्रदेश राज्य में जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए किए गए अनिवार्य नीतिगत उपायों के हालिया विवाद के आलोक में टिप्पणी कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: The Hindu

 निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

 टिप्पणी कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय पर अपने ज्ञान और समझ को बताते हुए एक समग्र राय विकसित करनी चाहिए।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए जनसंख्या नियंत्रण उपायों के हालिया उदाहरण पर प्रकाश डालते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

उत्तर के मुख्य भाग में निम्नलिखित पहलुओं को शामिल किया जाना चाहिए:

  • अनिवार्य जनसंख्या नियंत्रण नीतियों के मुद्दों पर चर्चा कीजिए।
  • कल्याण को सशर्त क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए। सुझाव दीजिए।

निष्कर्ष:

आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययनII


 

विषय: महत्त्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएँ और मंच- उनकी संरचना, अधिदेश।

2. अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) के लिए न्यायाधीशों का निर्वाचन कैसे किया जाता है? भारत की कूटनीति में अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय की सीट के महत्व पर चर्चा कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ:  https://www.icj-cij.org

निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय क्या है? समझाते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में न्यायाधीशों के निर्वाचन की प्रक्रिया पर प्रकाश डालिए।

भारत की कूटनीति में अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय की सीट के महत्व पर चर्चा कीजिए।

निष्कर्ष:

इसके महत्व पर प्रकाश डालते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 

विषय: भारत एवं इसके पड़ोसी- संबंध।

3. भारत-अफगानिस्तान सामरिक संबंधों के एक भाग के रूप में भारत के बुनियादी ढांचे के निवेश पर विस्तार से चर्चा कीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: Indian Express

 निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

उत्तर की संरचना:

 परिचय:

प्रश्न का संदर्भ प्रस्तुत करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

भारत-अफगानिस्तान साझेदारी समझौते पर चर्चा कीजिए।

इस सन्दर्भ में भारत द्वारा प्रारम्भ की गयी परियोजनाओं पर प्रकाश डालिए।

निष्कर्ष:

आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

  

विषय: सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिये हस्तक्षेप और उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय।

 4. उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 के मसौदे से सम्बंधित मुद्दों पर चर्चा कीजिए। क्या आपको लगता है कि उपभोक्ता हित के नाम पर तैयार किए गए प्रस्तावित ई-कॉमर्स नियम निहित स्वार्थों की रक्षा करते हैं? (250 शब्द)

सन्दर्भ: Indian Express

 निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 के मसौदे के प्रमुख बिंदुओं पर चर्चा कीजिए।

 विषय वस्तु:  

उपभोक्ता संरक्षण (ई-कॉमर्स) नियम, 2020 के मसौदे के प्रावधानों से सम्बंधित मुद्दों पर चर्चा कीजिए।

मार्केटप्लेस मॉडल के जरिए काम करने वालों के लिए फॉल-बैक लायबिलिटी क्लॉज (fall-back liability clause) अनुचित क्यों है? समझाइए।

निष्कर्ष:

आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययनIII


 

विषय: संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और क्षरण, पर्यावरण प्रभाव का आकलन।

5. आभासी जल व्यापार में शामिल अनेक मुद्दों का विश्लेषण करते हुए भारत से आभासी जल निर्यात को नियंत्रित करने के उपायों का सुझाव दीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ:  Down to Earth

 निर्देशक शब्द:

 विश्लेषण कीजिएऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के बहुआयामी सन्दर्भों जैसे क्या, क्यों, कैसे आदि पर ध्यान देते हुए उत्तर लेखन कीजिए।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

यह समझाते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए कि जल की मांग को कम करने के लिए कुशल जल प्रबंधन रणनीतियों के साथ-साथ स्रोत पर अपशिष्ट जल के उपचार एवं कायाकल्प के वृत्तीय जल प्रबंधन मॉडल को अपनाना हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

 विषय वस्तु:

उत्तर के मुख्य भाग में निम्नलिखित पहलुओं को शामिल किया जाना चाहिए:

  • इससे सम्बंधित कुछ प्रमुख तथ्यों पर प्रकाश डालिए।
  • जल के आभासी व्यापार से संबंधित सरोकारों की व्याख्या कीजिए।
  • इसे संबोधित करने के लिए समाधान सुझाइए।

निष्कर्ष:

आगे की राह बताते हुए निष्कर्ष निकालिए।

 


सामान्य अध्ययनIV


 

विषय: नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह-संबंधः मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्त्व, इसके निर्धारक और परिणाम; नीतिशास्त्र के आयाम; निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र, मानवीय मूल्य- महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा; मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका।

 6. स्वास्थ्य क्षेत्र में कृत्रिम बुद्धिमत्ता के उपयोग के संबंध में नैतिक चुनौतियों की जांच कीजिए एवं उन सिद्धांतों पर प्रकाश डालिए, जो ऐसे परीक्षणों से परे इस क्षेत्र का मार्गदर्शन कर सकते हैं। (250 शब्द)

सन्दर्भ: www.ncbi.nlm.nih.gov

 निर्देशक शब्द:

 जांच कीजिए- ऐसे प्रश्नों का उत्तर देते समय उस कथन अथवा विषय के पक्ष और विपक्ष दोनों का परीक्षण करते हुए सारगर्भित उत्तर लिखना चाहिए।

 प्रकाश डालिये- ऐसे प्रश्नों के उत्तर लेखन में अभ्यर्थी से अपेक्षा की जाती है कि वह प्रश्न से सम्बंधित प्रासंगिक जानकारियों को सरल भाषा में व्यक्त कर दे।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपनी रिपोर्ट ‘स्वास्थ्य के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता की नैतिकता एवं शासन’ जारी की है। इस सन्दर्भ में कुछ प्रमुख तथ्य प्रस्तुत करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

उत्तर के मुख्य भाग में निम्नलिखित पहलुओं को शामिल किया जाना चाहिए:

  • समझाइए कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रणाली एक मशीन-आधारित प्रणाली है, जो मानव-परिभाषित उद्देश्यों के दिए गए समूह के लिए, वास्तविक या आभासी वातावरण को प्रभावित करने वाले पूर्वानुमान, सिफारिशें या निर्णय निर्धारण कर सकता है। कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रणाली को स्वायत्तता के विभिन्न स्तरों के साथ संचालित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।
  • स्वास्थ्य के क्षेत्र में कृत्रिम बुद्धिमत्ता के उपयोग से सम्बंधित नैतिक चुनौतियों एवं जोखिमों पर चर्चा कीजिए।
  • स्वास्थ्य के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता के उपयोग के लिए कानूनों और नीतियों का मार्गदर्शन करने वाले ढांचे का विस्तार एवं सुझाव दीजिए।

निष्कर्ष:

निष्कर्ष निकालिए कि स्वास्थ्य के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता एक तेजी से विकसित होने वाला क्षेत्र है, और कई अनुप्रयोग, जिनकी अभी तक परिकल्पना नहीं की गई है, अधिक से अधिक सार्वजनिक और निजी निवेश के साथ उभरेंगे।

 

विषय: मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडीज़)।

7. व्यवहार विज्ञान से प्राप्त अंतर्दृष्टि द्वारा सार्वजनिक नीति को तेजी से सूचित किया जा रहा है। ऐसा ही एक व्यवहार दृष्टिकोण है नज सिद्धांत (Nudge Theory)। यह मुख्य रूप से विकल्पों के अभिकल्पन से संबंधित है, जो हमारे द्वारा लिए गए निर्णयों को प्रभावित करता है। नज सिद्धांत का प्रस्ताव है कि विकल्पों का अभिकल्पन इस बात पर आधारित होना चाहिए कि लोग वास्तव में क्या सोचते हैं और कैसे निर्णय लेते हैं, बजाय इसके कि नेता एवं अधिकारियों की नज़र में पारंपरिक रूप से लोग क्या सोचते हैं एवं कैसे निर्णय लेते हैं।

 इस संदर्भ में निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए:

 (a) उदाहरण देते हुए, लागू परिवर्तन एवं ‘नज’ तकनीकों के मध्य अंतर स्पष्ट कीजिए?

 (b) नज तकनीक से सम्बंधित नैतिक चिंताओं की पहचान कीजिए। साथ ही, नज सिद्धांत को नैतिक रूप से उपयोग करने के उपायों का सुझाव दीजिए। (250 शब्द)

सन्दर्भ: The Hindu

 निर्देशक शब्द:

 चर्चा कीजिए- ऐसे प्रश्नों के उत्तर देते समय सम्बंधित विषय / मामले के विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखते हुए तथ्यों के साथ उत्तर लिखें।

 उत्तर की संरचना:

 परिचय:

सार्वजनिक नीति को सूचित करने के लिए व्यवहार संबंधी अंतर्दृष्टि के उपयोग पर एक संक्षिप्त टिप्पणी करते हुए उत्तर प्रारम्भ कीजिए।

 विषय वस्तु:

उत्तर के मुख्य भाग में निम्नलिखित पहलुओं को शामिल किया जाना चाहिए:

  • सामाजिक परिवर्तन के पारंपरिक तरीकों एवं ‘नज’ तकनीकों के उपयोग के माध्यम से लाए जाने वाले परिवर्तनों के मध्य अंतर स्पष्ट कीजिए।
  • लोगों के विचारों एवं व्यवहार के बारे में अंतर्दृष्टि का उपयोग करके उनकी पसंद को अभिकल्पित करने से उत्पन्न होने वाले मूलभूत मुद्दों पर चर्चा कीजिए।

निष्कर्ष:

निष्कर्ष निकालिए कि नज तकनीक स्मार्ट और सस्ते तरीकों से महत्वपूर्ण समस्याओं को हल करने का प्रयास करती है। उनमें सामाजिक कल्याण को भी बढ़ाने की क्षमता है। हालाँकि, यह अनेक नैतिक चिंताओं से ग्रस्त है। इसलिए, एक संभावित नज की कल्पना करते समय विकल्प वास्तुकार को पारदर्शिता का पालन करना चाहिए।


Join our Official Telegram Channel HERE for Motivation and Fast Updates

Subscribe to our YouTube Channel HERE to watch Motivational and New analysis videos

Leave a Comment